गांजे की खुसबू आ रही है मेरे महाकाल के पास से 

*खुशबु आ रही है कहीँ से गांजे और भांग की !!! 

*

.

*शायद खिड़की🚪 खुल गयी है ‘ मेरे महांकाल’ के दरबार की..* ! सभी मित्रों को *श्रावण के प्रथम सोमवार* की हार्दिक बधाई
 *हर हर महादेव*

*जय श्री महाँकाल*